जुड़वां बच्चों के साथ मुंबई पहुंचीं मुकेश अंबानी की बेटी ईशा, परिवार ने किया भव्य स्वागत, 300 किलो सोना का चढाएगा चढ़ावा

शेयर करें

मुंबई। बिजनेसमैन मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की बेटी ईशा अंबानी अपने जुड़वा बच्चों के साथ भारत आ गई हैं। ईशा अंबानी के जुड़वा बच्चों के नाम कृष्णा आनंद पीरामल और आदिया आनंद पीरामल है। 19 नवंबर 2022 को ईशा ने लॉस एंजेलेस में जुड़वा बच्चों एक बेटे और एक बेटी को जन्म को जन्म दिया था और हाल ही में बच्चे एक महीने के हुए, जिसको लेकर उनके परिवार ने एक स्टेटमेंट भी जारी किया था। बच्चों के एक महीने के हो जाने के बाद अब ईशा, बच्चों के साथ मुंबई लौट आई हैं।

ईशा अंबानी को लेने के लिए उनका पूरा परिवार एयरपोर्ट पर पहुंचा था| घरों को काफी अच्छे से सजाया गया है और पूरी सुरक्षा के साथ सभी को एयरपोर्ट से घर लाया गया। बताया जा रहा है कि इस खास मौके पर कई पंडित आशीर्वाद के लिए मौजूद रहे। विरल ने रिपोर्ट में बताया है कि अंबानी परिवार इस खास मौके पर करीब 300 किलो सोना का चढ़ावा चढाएगा। यही नहीं ईशा और बच्चों के लिए देश के प्रसिद्ध मंदिरों से प्रसाद भी लाया गया है, जिस में तिरुपति बालाजी से लेकर श्री द्वारकाधीश मंदिर तक शामिल हैं।

ईशा और बच्चे कतर एयरवेज की स्पेशल फ्लाइट से मुंबई आए। यही नहीं ईशा को मुंबई लाने के लिए हाईली प्रोफेशनल डॉक्टर्स की एक टीम लॉस एंजिल्स (अमेरिका) गई थी, जो ईशा के साथ वापस आ रही है। वहीं अमेरिका के बेस्ट पीडियाट्रिशियन्स में शुमार, डॉक्टर गिब्सन भी कृष्णा और आदिया के पहले फ्लाइट ट्रेवल के वक्त उनके साथ मौजूद रहे। जानकारी के मुताबिक एंटीलिया को थोड़ा मॉडिफाई किया है, जिससे बच्चों को सीधे नेचुरल सनलाइट मिल सके। जिस में रोटेटिंग बेड और ऑटोमेटिड सनरूफ भी शामिल है।

कहा जा रहा है कि कृष्णा और आदिया के लिए हर इंतजाम को बेहद खास किया गया है। उनका फर्नीचर लोरो पियाना, हर्मीस और डायर जैसी बड़ी कंपनी द्वारा डिजाइन किया गया है। जुड़वा बच्चों के लिए डोल्से एंड गब्बाना, गुच्ची और लोरो पियाना जैसे बड़े ब्रांड्स के कस्टमाइज कपड़े पहनाए जा रहे हैं। वहीं कार की सीट्स को भी बच्चों के हिसाब से बीएमडबल्यू ने मॉडिफाई किया है। ताकि बच्चों को कार में सफर करने के दौरान किसी भी तरह की समस्या न हो। ईशा के साथ ही कृष्णा और आदिया के सफर को आसान बनाने के लिए अमेरिका की 8 स्पेशली ट्रेंड नैनी भी अमेरिका से भारत आई हैं। यही नहीं ये 8 नैनी, भारत में भी बच्चों की देखभाल करेंगी।

You cannot copy content of this page