एक बेटी की मां से हुई भारत के पूर्व कोच जंबो को मोहब्बत, प्यार पाने के लिए लड़ी लंबी लड़ाई

शेयर करें

न्यूज़ डेस्क| पूर्व भारतीय क्रिकेटर अनिल कुंबले संघर्ष के लिए जाने जाते हैं| उन्होंने टूटे जबड़े के साथ गेंदबाजी की थी| आज भी यह वाकया लोगों की जेहन में ताजा है| टीम इंडिया का यह दिग्गज क्रिकेटर कभी परेशानी से नहीं घबराया और हर चुनौती से पार पाने में सफल भी रहा| भारतीय टीम के पूर्व कोच कुंबले ने निजी जिंदगी में मोहब्बत पाने के लिए मुश्किल रास्ता चुना|

अनिल कुंबले ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं| जंबो नाम से मशहूर अनिल कुंबले को प्यार हुआ, वो भी शादीशुद महिला से| इतना ही नहीं वे पहले से एक बेटी की मां थीं| चेतना ने 1986 में एक स्टोरब्रोकर से शादी की थी| हालांकि वे अपनी निजी जिंदगी से खुश नहीं थी और नौकरी करना शुरू कर दिया था| लेग स्पिनर कुंबले को ट्रेवल एजेंसी में काम करने वाली चेतना रामतीर्थ से पहली ही मुलाकात में प्यार हो गया था| इसके बाद दोनों में दोस्ती आगे बढ़ी| हालांकि चेतना फिर से नए रिश्ते के लिए तैयार नहीं थी| उनका कहना था कि रिश्तों पर भरोसा कर पाना अब कठिन है| हालांकि उन्होंने 1998 में पति से अलग होने का फैसला किया, इसमें कुंबले ने साथ भी दिया| इसके बाद भारतीय क्रिकेटर ने चेतना को शादी के लिए प्रपोज किया, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया|

आखिरकार चेतना ने अनिल कुंबले के प्यार को स्वीकार किया और दोनों ने 1999 में शादी कर ली| उस समय चेतना की 4 साल की बेटी आरुणी भी थी| कुंबले के लिए बेटी को साथ रखना आसान नहीं रहा और कुंबले को कोर्ट तक जाना पड़ा| शुरुआत में उनकी वहां सुनवाई नहीं हुई| अंत में कोर्ट ने चेतना के पक्ष में फैसला सुनाया| फिर कुंबले ने आरुणी को अपना नाम भी दिया|

अनिल अपने 3 बच्चों के साथ रह रहे हैं| बेटे का नाम मायास और बेटी का नाम स्वस्ति कुंबले है| उन्हें जंगल और जानवर बेहद पसंद हैं| इस कारण वे अधिकतर वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी करते हुए पाए जाते हैं और वे सोशल मीडिया पर फोटो भी शेयर करते हैं| हालांकि बतौर कोच टीम इंडिया के साथ उनका कार्यकाल कुछ खास नहीं रहा था| कप्तान विराट कोहली से उनका मतभेद हो गया था और उन्होंने कोचिंग छोड़ दी थी|

कुंबले को अर्जुन अवार्ड के अलावा पद्मश्री ने भी नवाजा जा चुका है| वे आईसीसी हाल ऑफ में भी शामिल हैं| 1996 में उन्हें विज्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर भी चुना गया था| पूर्व भारतीय कप्तान कुंबले टी20 लीग आईपीएल में खेलने के अलावा वहां कोचिंग भी दे चुके हैं| 52 साल के अनिल कुंबले ने टेस्ट और वनडे दोनों फॉर्मेट में 300 से अधिक विकेट झटके| उन्होंने 132 टेस्ट में 619 विकेट लिए हैं| 35 बार 5 और 8 बार 10 विकेट लिया है| 74 रन देकर 10 विकेट बेस्ट प्रदर्शन है| वे 271 वनडे में 337 विकेट भी ले चुके हैं| 12 रन देकर 6 विकेट सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है| उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 1136 विकेट लेने के अलावा ओवरऑल टी20 में 57 विकेट लिए| लिस्ट-ए क्रिकेट की बात करें तो इस लेग स्पिनर ने 514 विकेट झटके हैं|

 

You cannot copy content of this page