ज्यादा नमक खाना स्वास्थ्य के लिए है बहुत नुकसानदायक…सुधार लें तेज नमक खाने की आदत

शेयर करें

न्यूज़ डेस्क| एक वयस्क व्यक्ति को रोजाना लगभग 2400 मिलीग्राम तक नमक का सेवन करना चाहिए| अगर आप इससे ज्यादा नमक खाते हैं तो यह नुकसानदायक साबित हो सकता है| हो सकता है कि इसका प्रभाव आपको शुरुआत में दिखाइ न दे, लेकिन भविष्य में जब आपके शरीर में नमक ज्यादा मात्रा में जमा हो जाएगा तो आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है| आइए जानते हैं कि नमक के ज्यादा सेवन से कौन-कौन सी शारीरिक समस्याओं से जूझना पड़ सकता है|

हाई ब्लड प्रेशर के कई कारणों में से एक ज्यादा सोडियम भी होता है| क्योंकि, ब्लड प्रेशर में बदलाव के पीछे किडनी का कार्य बहुत महत्वपूर्ण रहता है| ज्यादा नमक खाने के कारण किडनी अतिरिक्त पानी को निकालने में मुश्किलों का सामना करने लगती है, जिसकी वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है| नमक का ज्यादा सेवन करने से आपकी रक्त वाहिकाओं (ब्लड वेसल्स) पर दबाव पड़ता है, जिसकी वजह से ब्लड का प्रेशर बढ़ सकता है और यही हाई ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक और हार्ट फेल का कारण बन सकता है|

अगर आप लंबे समय से ज्यादा नमक खा रहे हैं तो अभी सावधान हो जाइए| क्योंकि ये आगे चलकर आपकी किडनी को खराब कर सकता है| आप ऐसी स्थिति का सामना कर सकते हैं, जिसमें किडनी पानी को छानने की क्षमता खो देती है|

डाइट में बहुत ज्यादा नमक आपके पेट में असंतुलन पैदा कर सकता है, जिससे आपको जी मिचलाने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है| ऐसे में जरूरी है कि आप खाने में इसकी मात्रा को कंट्रोल करें| साथ ही जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें ताकि आपका शरीर हाइड्रेटेड रहे| खाने में सोडियम की मात्रा ज्यादा होने पर सिरदर्द की समस्या का भी सामना करना पड़ता है|

अधिक मात्रा में नमक खाने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है| क्योंकि नमक में सोडियम की मात्रा अधिक होती है, इसका ज्यादा सेवन करने से अधिक पसीना आ सकता है और भी समस्या हो सकती है| जिसकी वजह से आप डिहाइड्रेट हो सकते हैं|

भोजन में सोडियम की ज्यादा मात्रा होने से हड्डियों में कैल्शियम की कमी हो सकती है| जब आप ज्यादा नमक से भरपूर खाना खाते हैं तो आप अपने शरीर से कम मात्रा में कैल्शियम का उत्सर्जन भी कर रहे होते हैं| इसकी वजह से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और ऑस्टियोपोरोसिस नाम की समस्या उभरने लगती है|

यह स्थिति तब पैदा होती है जब अधिक नमक का सेवन करने की वजह से आपके शरीर में ‘वाटर रिटेंशन’ (तरल मात्रा का बढ़ जाना) हो जाता है| इस वजह से ही आपको नमकीन खाना खाने पर तेजी से प्यास लगती है| हालांकि, जब कुछ खाने के आइटम को बिना नमक के खाना शुरू करते हैं और साथ ही साथ पानी पीने की मात्रा को बढ़ाते हैं, तो शरीर में सूजन दूर हो जाती है| लेकिन इसके बाद भी तनाव आपके शरीर के लिए खतरनाक होता है|

इसका ज्यादा सेवन से त्वचा रोग होते हैं| खुजली होने के कई कारणों में नमक भी एक कारण है| शरीर में जलन, खराश, त्वचा पर लाल चकत्ते नमक की अधिकता से होते हैं, इसलिए स्किन इंफेक्शन से बचने के लिए नमक कम खाएं|

You cannot copy content of this page