बागेश्वर धाम के दरबार में इस्लाम छोड़ हिंदू बन गई सुल्ताना, मंच से लगाए ‘जय श्री राम’ के नारे

शेयर करें

रायपुर। मन की बात पढ़ लेने के दावों को लेकर चर्चा में आए बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री के दरबार में अब धर्मांतरण का वीडियो वायरल हो रहा है। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली सुल्ताना बेगम ने रविवार को रायपुर दरबार में जाकर कथित तौर पर इस्लाम धर्म त्याग कर हिन्दू धर्म अपना लिया। इस दौरान सुल्ताना ने कहा कि हिन्दू धर्म सबसे अच्छा है। अगर मोक्ष कहीं मिलेगा तो हिंदू धर्म में ही मिलेगा। महिला ने कहा कि बागेश्वर धाम के दरबार में कहा कि मूर्ति पूजा करने के चलते उसके परिवार के लोग उसे मुस्लिम धर्म के लिए कलंक मानते हैं। सुल्ताना ने कहा कि हिन्दू धर्म ही सबसे अच्छी सभ्यता और संस्कारों वाला धर्म है। इससे अच्छा कोई और धर्म कहीं हो ही नहीं सकता।

बागेश्वर धाम के दरबार में इस्लाम छोड़ हिंदू बन गई सुल्ताना, मंच से लगाए 'जय श्री राम' के नारे

वह हिन्दू धर्म इसलिए अपनाना चाहती है क्योंकि इस धर्म में बहन की शादी भाई से नहीं होती। इसमें तीन तलाक बोलकर महिलाओं की जिंदगी बर्बाद नहीं होती। इसमें सात फेरों की शादी का वादा सात जन्मों तक निभाया जाता है। इस धर्म में सिंदूर से लेकर मंगलसूत्र और सोलह श्रृंगार का विशेष महत्व होता है।

सुल्ताना ने बताया कि वह दो बार मथुरा भी घूमकर आई है। उसे हिन्दू धर्म सबसे अच्छा लगता है। अगर मोक्ष कहीं मिलेगा तो हिंदू धर्म में ही मिलेगा। इस दौरान सुल्ताना ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री को अपना भाई बनाकर राखी बांधने की इच्छा जताते हुए बागेश्वर सरकार के मंच से ‘जय श्री राम’ और बागेश्वर धाम का उद्घोष किया। इतना ही नहीं, ओडिशा से आए एक ईसाई परिवार ने भी बागेश्वर धाम दरबार की महिमा से प्रभावित होकर हिंदू धर्म अपना लिया है।

You cannot copy content of this page