दमोह में दर्दनाक हादसा: गिट्टी से लदा ट्रक घर में घुसा, तीन बच्चों की मौत, चार लोग घायल

शेयर करें

भोपाल। मध्यप्रदेश के दमोह में एक ट्राला बेकाबू होकर घर पर जा चढ़ गया, जिसमें सो रहे तीन मासूम बच्चों की मौत हो गई। वहीं, चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिले के बटियागढ़ थाना क्षेत्र के आंजनी टपरिया गांव में यह भीषण हादसा हुआ। गिट्टी से भरा तेज रफ्तार ट्राला अनियंत्रित होकर कच्चे मकान पर पलट गया।  तीनों भाई बहन थे।  घटना के बाद चारों ओर चीख पुकार मच गई।  ग्रामीणों की मदद से घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दुर्गा पूजा में हरिराम दिल्ली से गांव आया था। उसके तीनों बच्चे आकाश, मनीषा और ओमकार घर में सोए थे। हरिराम अपनी पत्नी से बात कर रहे थे। पास में बच्चे सोए थे। इसी दौरान तेज रफ्तार ट्राला आया और खंभे से टकराकर मकान पर पलट गया। पलटने के कारण गिट्टी मकान पर गिरी और दंपति व बच्चे उसमें दब गए। जैसे तैसे लोगों ने हरिराम व उसकी पत्नी को बाहर निकाल लिया,  लेकिन बच्चों को नहीं निकाल सके। दम घुटने से उनकी मौत हो गई। करीब एक से दो घंटे बाद बच्चों को बाहर निकाला जा सका। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। पुरुषोत्तम नाम के एक व्यक्ति की भी मौत हुई है।

आर्थिक मदद के लिए किया चक्काजाम
घटना के बाद पूरे गांव में मातम का माहौल छाया हुआ है। वहीं, ग्रामीणों में ट्रक चालक के खिलाफ आक्रोश भी है।  परिजनों ने आक्रोश जताते हुए दमोह छतरपुर मार्ग पर चक्काजाम किया। पीड़ित परिवार को तीस लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की मांग की। बाद में पुलिस और प्रशासन और जनप्रतिनिधि घटनास्थल पर पहुंचे।

सीएम शिवराज सिंह ने जताया दुख
पथरिया विधायक रामबाई परिहार मौके पहुंचीं। हृदयविदारक घटना देख वह भावुक हो गईं। उन्होंने कहा कि मैं समझ सकती हूं कि उस मां पर क्या बीत रही होगी जिसने तीन बच्चों को खोया है। हालांकि, थोड़ी देर बाद ग्रामीणों व परिजनों को समझाइश देकर जाम खुलवाया गया। प्रदेश के मुख्यमंत्र शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर घटना पर दुख जताया।